ALL देश उत्तर प्रदेश पंचायत वार्ड कुछ अलग
विनय कटियार बोले- मुसलमानों के लिए कई देश, लेकिन हिंदुओं के लिए सिर्फ भारत
January 16, 2020 • विशेष प्रतिनिधि

एक समारोह में भाग लेने पहुंचे विनय कटियार ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. सीएए पर मचे बवाल पर उन्होंने एक नई बहस छेड़ दी और कहा कि मुसलमानो के लिए तो बहुत से देश हैं मगर हिंदुओं के लिए केवल भारत ही है.

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बाराबंकी (Barabanki) जिला पहुंचे बीजेपी (BJP) के फायरब्रांड नेता विनय कटियार (Vinay Katiyar) ने बड़ा बयान दिया. विनय कटियार ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के तहत देश के किसी भी मुसलमान (Musalman) को देश छोड़ने की नोटिस नहीं दी गई है, क्योंकि यह नागरिकता देने वाला कानून है, नागरिकता छीनने वाला नहीं. विनय कटियार ने आगे कहा कि मुसलमानों के लिए कई इस्लामिक देश हैं, लेकिन हिंदुओं के लिए सिर्फ हिंदुस्तान ही है. जिन लोगों को धार्मिक आधार पर प्रताड़ना का शिकार होने पर नागरिकता दी जानी है, उनके लिए कोई और देश नहीं है.

CAA पर छेड़ी नई बहस

रामसजीवन वर्मा के घर आयोजित एक समारोह में भाग लेने पहुंचे विनय कटियार ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. सीएए पर मचे बवाल पर उन्होंने एक नई बहस छेड़ दी और कहा कि मुसलमानो के लिए तो बहुत से देश हैं मगर हिंदुओं के लिए केवल भारत ही है. इसीलिए जब गैर मुस्लिम कहीं सताया जाता है तो वह भाग कर भारत आता है. ऐसी दशा में यह कानून लाकर इनको नागरिकता देना जरूरी था. मुसलमानों को अगर धार्मिक आधार पर पाकिस्तान में ,बांग्लादेश देश में या अफगानिस्तान में सताया जाता है तो वहाँ उनका अपना कानून है. उनकी रक्षा की जाएगी. उन्हें नागरिकता दी जाएगी. इसमें कहां आपत्ति है. अब हम रोहिंग्या को तो नागरिकता देने वाले हैं नही. उन्हें अपने देश वापस जाना ही होगा. भारत में रह रहे मुसलमानो को कोई नोटिस तो मिला नहीं है फिर काहे का बवाल है. विनय कटियार ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून पर जो लोग बवाल मचा रहे है ऐसा लगता है कि वह देश के साथ रहना नहीं चाहते. भ्रम फैलाने वाले कोई और नहीं यह सपा , बसपा, कांग्रेस व टीएमसी है. क्योंकि इनकी जमीन उखड़ चुकी है. यह अपनी जमीन बचाने के लिए ही भ्रम फैला रहे हैं.

राम मंदिर का निर्माण जल्द

राम मंदिर के निर्माण में हो रही देरी के सवाल पर विनय कटियार ने कहा कि निर्माण में समय लगता है और विध्वंस में कुछ घंटे और मिनट लगते हैं. निर्माण होना है, जल्द ही भव्य मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा, अब इसमें देरी नहीं है.

घाघरा का नाम बदलना अच्छा फैसला

घाघरा नदी का नाम सरयू किये जाने पर विनय कटियार ने कहा कि इसका कारण इसकी धार्मिक पहचान बनाये रखना है. जिस तरह गंगा जी को औऱ यमुना जी को पवित्र माना जाता है उसी तरह सरयू जी को भी पवित्र माना जाता है. उससे अयोध्या की पहचान है. उसमें स्नान करने से क्या-क्या लाभ है यह उसमें स्नान करने से ही पता चलता है. सरकार ने इसका नाम बदल कर बहुत ही अच्छा काम किया है.