ALL देश उत्तर प्रदेश पंचायत वार्ड कुछ अलग
ट्वीट को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रियंका को घेरा
November 20, 2019 • विशेष प्रतिनिधि

उन्नाव में ट्रांस गंगा सिटी परियोजना के लिए ली गई जमीन के मुआवजे को लेकर हंगामा कर रहे ग्रामीणों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। प्रियंका ने इस मामले मेंराज्य सरकार को गिरते हुए ट्वीट किया था और घटना का एक वीडियो भी शेयर किया था लेकिन जैसे ही वह पूरा वीडियो सोशल मीडिया पर आया तो प्रियंका ने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया।


लखनऊ, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा उन्नाव जिले में पुलिस की कार्यवाही के वीडियो का एक अंश विशेष ट्वीट किए जाने को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्हें घेरा है।

 

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने मंगलवार को  भाषा  को बताया कि प्रियंका ने उन्नाव में हिंसा कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज का एक वीडियो ट्वीट करके उत्तर प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाए थे लेकिन जैसे ही वह पूरा वीडियो सोशल मीडिया पर आया तो प्रियंका ने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया।

 उन्होंने कहा कि झूठ का कोई आधार नहीं होता। कांग्रेस के नेता अपने पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा उच्चतम न्यायालय में माफी मांगे जाने के बावजूद झूठ बोलने से बाज नहीं आ रहे।  त्रिपाठी ने भी वह पूरा वीडियो ट्विटर पर शेयर करके प्रियंका को घेरा।

 गौरतलब है कि उन्नाव में ट्रांस गंगा सिटी परियोजना के लिए ली गई जमीन के मुआवजे को लेकर हंगामा कर रहे ग्रामीणों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। प्रियंका ने इस मामले मेंराज्य सरकार को गिरते हुए ट्वीट किया था और घटना का एक वीडियो भी शेयर किया था जिसमें एक किसान आज मेरी हालत में जमीन पर पड़ा देख रहा था और पुलिसकर्मी उसे डंडे भी मार रहे थे। हालांकि बाद में सोशल मीडिया पर आए उस पूरे वीडियो में जमीन पर पड़ा आदमी बाद में उठ कर भागता हुआ नजर आया।

 उन्नाव के पुलिस अधीक्षक एमपी वर्मा ने बताया कि हमने जमीन पर गिरे हुए उस व्यक्ति का वीडियो पूरा वीडियो शेयर किया। पहले इसी वीडियो के एक अंश को बड़े पैमाने पर वायरल किया गया था जिसमें वह व्यक्ति अधमरा पड़ा दिखाई दे रहा था लेकिन सच्चाई यह थी कि वह अधमरे होने का नाटक कर रहा था।